शायद भारतवर्ष में बहुत कम लोग Angel Investors के बारे में जानते होंगे क्योंकि जब भी वह व्यक्ति जो उद्यमी बनने को आतुर अपने बिज़नेस के लिए वित्त का प्रबंध करने की सोचता है तो उसके अंतर्मन में सरकार द्वारा चलाई जाने वाली विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत ऋण, बैंकों से ऋण या फिर किसी अन्य वित्तीय संस्थान जो ब्याज पर ऋण उपलब्ध कराते हैं आते होंगे |

लेकिन बहुत कम लोग जानते होंगे की यदि बिज़नेस का आईडिया नवीनतम एवं दमखम वाला हो तो उसे इंडिया में भी Angel Investors मिल सकते हैं जो उस उद्यमी के बिज़नेस के आईडिया को मूर्त रूप देने के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करते हैं बदले में उस व्यापार में वे रिटर्न या फिर मालिकाना हिस्सेदारी मांगते हैं |

किसी उद्यमी और उद्यम के लिए कोई भी व्यक्ति Angel Investor हो सकता है | अर्थात ऐसा प्रभावशाली व्यक्ति जिसके पास पैसा हो वह नए उद्यम में उस पैसे को लगाकर उस विशेष उद्यम के लिए Angel Investor बन सकता है |

Angel-Investors-information-in-hindi

Angel Investors कौन होते हैं?

जैसा की हम पहले भी बता चुके हैं की Angel Investor कोई भी प्रभावशाली व्यक्ति जिसके पास पैसा हो किसी नए उद्यम के लिए Angel Investor बन सकता है | चूँकि Angel एक अंग्रेजी शब्द है जिसका शाब्दिक अर्थ फरिश्ते अर्थात देवदूत से लगाया जा सकता है कहने का आशय यह है की नया नया बिज़नेस स्टार्ट कर रहे उद्यमियों के लिए ये फरिश्ते की तरह होते हैं क्योंकि नए स्टार्टअप में निवेश की आवश्यकता होती है जो यह अन्य वित्तीय संस्थानों के मुकाबले आसान शर्तों के साथ स्टार्टअप में पैसे लगाते हैं |  

अर्थात जब किसी प्रभावशाली पैसे वाले व्यक्ति द्वारा नए नए स्टार्टअप में निवेश किया जाता है तो उस व्यक्ति को उस उद्यम का Angel Investors कहा जा सकता है | एक उद्यम में एक से अधिक Angel Investors हो सकते हैं |

एंजेल इन्वेस्टर मदद के बदले क्या चाहते हैं?

ऐसा इस दुनिया में बिलकुल भी नहीं होता है की यदि किसी व्यक्ति के पास खूब सारा पैसा है तो वह किसी भी व्यक्ति जो स्टार्टअप कर रहा हो उसकी मुफ्त में या बिना अपेक्षा के मदद करेगा | जी हाँ ऐसे व्यक्ति जो नए नए बिज़नेस में निवेश कर रहे होते हैं वे किसी उद्यमी पर दया करके या फिर अन्य किसी कारणवश नहीं बल्कि उस बिज़नेस आईडिया के चलने के संभावनाओं के मद्देनज़र एवं उस बिज़नेस में अपना मालिकाना हक़ या अच्छा खासा रिटर्न मांग रहे होते हैं |  

लेकिन चूँकि स्टार्टअप में निवेश करना या पैसा लगाना हमेशा जोखिम भरा रहता है इसलिए अन्य वित्तीय संस्थानों के मुकाबले इनके नियम कुछ आसान होते हैं |

कहने का अभिप्राय यह है की जब Angel Investors किसी स्टार्टअप उद्यम में निवेश कर रहे होते हैं तो उसमे इस बात का भी ध्यान रखा जाता है की यदि बिज़नेस डूब गया तो फिर क्या होगा जिसके नियम अन्य वित्तीय संस्थानों की तुलना में आसान होते हैं | उपर्युक्त वाक्यों से स्पष्ट है की कोई भी एंजेल इन्वेस्टर किसी भी स्टार्टअप उद्यम में मुफ्त में निवेश नहीं करता है बल्कि उसकी भी उस उद्यम से आशाएं, आंक्षाएं जुड़ी हुई होती हैं, जो रिटर्न से लेकर मालिकाना हक़ में हिस्सेदारी तक कुछ भी हो सकती है |

Angel Investors स्टार्टअप में कैसे निवेश करते हैं?

एंजेल इन्वेस्टर नए स्टार्टअप में अकेले एवं समूह दोनों में निवेश कर सकते हैं अनेक शहरों में ऐसे कई उदाहरण देखने को मिले हैं जहाँ बहुत सारे छोटे छोटे निवेशकों ने मिलकर एक समूह स्थापित कर लिया हो और इसके बाद वे विभिन्न उद्यमों में समूह के तौर पर ऑफलाइन या ऑनलाइन इन्वेस्ट करते हैं | इस तरह से छोटे छोटे निवेशकों के एक साथ मिलने के कई सारे फायदे होते हैं, जिनका संक्षिप्त वर्णन कुछ इस प्रकार से है |

  • एक साथ निवेश करने से निवेश का जोखिम भी बंट जाता है |
  • चूँकि छोटे छोटे निवेशक मिलकर निवेश करते हैं इसलिए उनके पास निवेश करने के लिए अधिक पैसा होता है |
  • किस उद्यम में निवेश किया जाय किस उद्यम में न किया जाय इस बारे में राय मशवरा लेने के लिए सदस्यों की संख्या अधिक होती है |
  • जिस उद्यम में निवेश किया जा रहा हो उसके बारे में जानने के लिए उनके पास संसाधन अधिक रहते हैं |

क्या एंजेल इन्वेस्टमेंट जोखिमभरा होता है?

जी हाँ बिलकुल एंजेल इन्वेस्टमेंट को बेहद जोखिमभरा माना जाता है लेकिन सच्चाई यह भी है की जिस बिज़नेस में जितना जोखिम होता है उसमें उतने ही अधिक लाभ कमाने के अवसर भी विद्यमान होते हैं | कहने का आशय यह है की अधिक जोखिमभरे निवेश से ही अधिक रिटर्न की अपेक्षा की जा सकती है | जोखिम इसलिए होता है क्योंकि इन्हें नए नए स्टार्टअप में निवेश करना होता है और बिज़नेस के असफल होने पर कुछ Angel Investors तो बिलकुल ही समाप्त हो जाते हैं लेकिन कुछ व्यवसायिक निवेशक बचे रहते हैं |

देश में बहुत सारे एंजेल इन्वेस्टर हैं जिन्होंने विभिन्न स्टार्टअप में निवेश भी किया है | इनका जिक्र हम अपने अलग से लेख के माध्यम से आने वाले समय में करेंगे | इसलिए कोई भी उद्यमी जो अपना स्टार्ट अप शुरू करने की सोच रहा हो यदि उसे अपने द्वारा उत्पादित बिज़नेस आईडिया पर सम्पूर्ण भरोसा है लेकिन उसके पास उस बिज़नेस को धरातल पर उतारने के लिए पैसा नहीं है तो ऐसे में वह किसी Angel Investors को अपना बिज़नेस प्लान एक्सप्लेन कर सकता है |

बिज़नेस के लिए फण्ड एकत्रित करने का तरीका क्राउड फंडिंग

प्लान पसंद आने पर हो सकता है की कोई एंजेल इन्वेस्टर उसके बिज़नेस में निवेश करने को तैयार हो जाय | उद्यमिता के लिए आने वाला विचार ऐसा होना चाहिए की जिसमे लाभ कमाने का सामर्थ्य छिपा हुआ हो | वर्तमान में नवीन विचारधारा यदि Information technology से जुड़ी हुई हो तो ऐसे में Angel investors मिलने की अधिक संभावना रहती है |

6 Comments

  1. Avatar for Lavkush Maurya Lavkush Maurya
  2. Avatar for Darshan ram Darshan ram
  3. Avatar for Dipendra Rathore Dipendra Rathore
  4. Avatar for ajay sharma ajay sharma
  5. Avatar for Vijay Vijay
  6. Avatar for Ganesh Godik Ganesh Godik

Leave a Reply

Your email address will not be published